माल्या क्यों बोले, ‘पीएम ने मुझे दोषमुक्त किया’

माल्या क्यों बोले, ‘पीएम ने मुझे दोषमुक्त किया’

शराब कारोबारी विजय माल्या ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ख़ुद उनकी (माल्या की) 14,000 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त किए जाने की बात मानी है और ये मुझ पर बकाया 9000 करोड़ रुपये से अधिक है तो फिर बीजेपी के प्रवक्ता मेरे ख़िलाफ़ लगातार बयानबाज़ी क्यों कर रहे हैं?

2016 से ब्रिटेन में रह रहे 60 साल के माल्या पर आरोप है कि उन्होंने अपनी किंगफ़िशर एयरलाइन के लिए धोखाधड़ी से 10 हज़ार करोड़ का कर्ज़ लिया. ये कंपनी बाद में बर्बाद हो गई थी.

पिछले हफ्ते एक निजी भारतीय टेलीविज़न चैनल को दिए इंटरव्यू में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था, ”हमने विजय माल्या के क़र्ज़ से ज़्यादा संपत्ति ज़ब्त की. माल्या का कर्ज़ तो 9 हज़ार करोड़ था लेकिन हमारी सरकार ने दुनिया भर में उनकी 14 हज़ार करोड़ की संपत्ति ज़ब्त की. पहले भी लोग भागते थे और सरकारें नाम तक नहीं बताती थीं. हमने तो क़दम उठाए इसलिए भागना पड़ रहा है.”

विजय माल्या ने अपने ऊपर हुई कार्रवाई को ग़लत बताते हुए निशाना साधा है.

मेरे ख़िलाफ़ बयानबाज़ी क्यों?

माल्या ने लगातार दो ट्वीट किए और कहा कि अब जब प्रधानमंत्री ने ही पूरी वसूली की पुष्टि कर दी है तो फिर उनके ख़िलाफ़ बयानबाज़ी क्यों हो रही है?

माल्या ने ट्वीट किया, “प्रधानमंत्री मोदीका इंटरव्यू देखा, जिसमें वह मेरा नाम लेते हैं और कहते हैं कि हालाँकि मुझ पर बैंकों का 9000 करोड़ रुपये का ही कर्ज़ है, उनकी सरकार ने 14000 करोड़ रुपये की मेरी संपत्ति ज़ब्त की है. तो देश की सर्वोच्च अथॉरिटी ने पूरा बकाया वसूलने की पुष्टि कर दी है. तो फिर बीजेपी के प्रवक्ता मेरे ख़िलाफ़ अपना राग क्यों जारी रखे हुए हैं?”

https://twitter.com/TheVijayMallya/status/1112171935570513920

 

माल्या ने इसके बाद एक और ट्वीट किया.

उन्होंने कहा, “भारत में मेरी छवि पोस्टर ब्वॉय की बना दी गई है. प्रधानमंत्री ने खुद कहा है कि मेरे ऊपर बैंकों का जितना बकाया था, उससे अधिक उनकी सरकार वसूल चुकी है. बड़ी बात यह है कि मैं 1992 से ही ब्रिटेन निवासी हूं, इसे नजरअंदाज़ कर दिया गया. मुझे भगोड़ा कहना बीजेपी को जंचता है.”

https://twitter.com/TheVijayMallya/status/1112173460149727233

माल्या साल 2016 से ब्रिटेन में रह रहे हैं.

इससे पहले, माल्या ने जेट एयरवेज के चेयरमैन पद से नरेश गोयल के इस्तीफ़ा देने के बाद बीते मंगलवार को सरकार पर तंज कसते हुए कहा था कि बैंक उनका पैसा वापस ले लें और संकट में फंसे जेट एयरवेज को बचाएं, माल्या ने ट्वीट किया कि सरकारी बैंकों को उनसे रकम ले लेनी चाहिए, ताकि वे जेट एयरवेज़ को मदद कर सकें.

कर्ज़दाताओं की ओर से करीब 1,500 करोड़ रुपये की मदद जेट एयरवेज़ को दिलाने के लिए नरेश गोयल ने अपनी पत्नी अनीता समेत सोमवार को कंपनी के पद छोड़ दिए थे.

विजय माल्या को सरकार भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित कर चुकी है और लंदन से उसके प्रत्यर्पण की कार्रवाई चल रही है.

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *