2000 रुपये के नकली नोट दबा के आ रहे हैं इंडिया में, पहचानना सीख लें

2000 रुपये के नकली नोट दबा के आ रहे हैं इंडिया में, पहचानना सीख लें

2000 रुपये के नकली नोट दबा के आ रहे हैं इंडिया में, पहचानना सीख लेंजब नोटबंदी का फैसला आया था तो कहा गया था कि दाऊद फैसला सुनते ही रोने लगा था. बिस्तर पकड़ लिया था. ये भी कहा गया कि अब आतंकवाद की फंडिंग खत्म हो जाएगी. पाकिस्तान जाली नोट इंडिया नहीं भेज पाएगा. मतलब सारा दोष 500 और 1000 के नोट पर डाल दिया गया था. कि इसको हटाते ही सब रुक जाएगा. पर हमने उस प्रोसेस के बारे में बात नहीं की थी, जिससे जाली नोट पाकिस्तान से इंडिया आते थे. क्योंकि 2000 रुपये के जाली नोट पाकिस्तान से भारत आ रहे हैं. बांग्लादेश के रास्ते.

इंडियन एक्सप्रेस ने लिखा है कि ये जानकारी राष्ट्रीय जांच एजेंसी और बीएसएफ को मिले जाली नोटों और इसी मामले में हुई कई लोगों की गिरफ्तारी के बाद मिली है.
पीएम मोदी ने नकली नोटों और कालेधन को खत्म करने के लिए नोटबंदी का फैसला लिया था और 500 और 2000 के नए नोट जारी करते हुए कहा गया था कि नए नोटों के सिक्यूरिटी फीचर्स कॉपी करना आसान न होगा. लेकिन नोटबंदी के बमुश्किल दो महीने बीतते ही नकली नोटों के खेप भारत आने शुरू हो गए. एक्सप्रेस की मानें तो स्मगलर्स 17 में से 11 फीचर्स कॉपी करने में सफल रहे हैं पर पेपर की क्वालिटी और प्रिंटिंग थोड़ी खराब है. फिर भी सिर्फ आंख से देखकर नकली नोटों की पहचान करना संभव नहीं है. दिसंबर 2016 में ही नकली नोटों की खेप पकड़ी गई थी. इसके बाद जनवरी में भी की घटनाएं हुईं.

फिर 8 फरवरी को बंगाल के मुर्शिदाबाद से 26 साल के अजीजुर्रहमान को पकड़ा गया जिसके पास से 2000 के 40 नकली नोट मिले थे. पूछताछ में अजीजुर्रहमान ने बताया कि फेक नोट को आईएसआई की मदद से पकिस्तान में छापा गया है और बांग्लादेश होते हुए भारत भेजा जा रहा है. दो हजार की स्मगलिंग के लिए 400-600 रुपए देने पड़ते हैं.

नोटबंदी के बाद सिक्यूरिटी एजेंसियों ने बॉर्डर इलाकों से करीब चार करोड़ नकली रुपए पकड़े हैं. एसपीएमसीआईएल (भारत प्रतिभूति मुद्रण तथा मुद्रा निर्माण निगम लिमिटेड) के ऑफिसर्स की मानें तो नए नोटों के फीचर्स लगभग पुराने नोटों जैसे ही हैं, कोई एक्स्ट्रा फीचर नहीं जोड़ा गया है. नया फीचर एड करना आसान नहीं होता है. इससे पहले आखिरी बार इंडियन करेंसी में 2005 में बदलाव हुए थे.

बात ये है कि नोट को लेकर जितना हंगामा हुआ, उस हिसाब से फायदा नहीं दिख रहा है. काला धन भी नहीं आया. जाली नोटों की स्मगलिंग नहीं रुक रही है. क्योंकि हमने सारा अपराध नोटों पर ही मढ़ दिया था. हमने ये नहीं देखा कि प्रशासन क्या कर रहा है इस व्यवस्था को रोकने के लिए.

सिक्योरिटी फीचर्स तो हम आपको बता रहे हैं-

  1. नोट को रोशनी में रखने पर साइड में 2000 लिखा दिखेगा.
  2. आंख के सामने 45 डिग्री के एंगल पर भी 2000 लिखा दिखेगा.
  3. देवनागरी में भी 2000 लिखा रहेगा नोट पर.
  4. नोट पर छोटे-छोटे अक्षरों में RBI और 2000 लिखा है.
  5. नोट के सेंटर में गांधी जी की तस्वीर है.
  6. सिक्योरिटी थ्रेड पर भारत, RBI और 2000 लिखा है. नोट को हल्का मोड़ने पर इस थ्रेड का कलर हरा से नीला हो जाता है.
  7. कीमत का गारंटी क्लॉज, गवर्नर का सिग्नेचर और RBI का लोगो नोट पर दाहिनी तरफ है.
  8. ऊपर में सबसे बाईं तरफ औऱ नीचे में सबसे दाहिने लिखे नंबर बाएं से दाएं की ओर बड़े होते जाते हैं.
  9. लिखे नंबर 2000 का रंग भी हरा से नीला हो जाता है.
  10. नोट पर दाहिनी तरफ अशोक स्तंभ है. दृष्टिहीनों के लिए अशोक स्तंभ की तस्वीर उभरी हुई है.
  11. जहां खाली जगह सा लगता है वहां महात्मा गांधी की तस्वीर का वॉटरमार्क और इलेक्ट्रोटाइप 2000 वॉटरमार्क दिखेगा.
  12. बॉटम राइट में नंबर पैनल पर नोट के अंक बढ़ते क्रम में छोटे से बड़े होते दिखते हैं.
  13. बॉटम राइट में 2000 लिखा हुआ है, जिसका रंग मोड़ने पर बदलता है.
  14. सत्यमेव जयते के ठीक ऊपर आयताकार (हॉरिजोंटल ) में 2000 का प्रिंट उभरा हुआ है.
  15. नोट के लेफ्ट और राइट साइड में तिरछी सात लाइनें खींची हुई हैं.
  16. नोट के पीछे उपर लेफ्ट में छपाई का साल लिखा होता है.
  17. नोट के पिछले साइड 15 भारतीय भाषाओं में “दो हज़ार रुपये” लिखा होता है.

ज्यादा जानकारी के लिए रिजर्व बैंक की साइट पर जाएं. सारे सिक्योरिटी फीचर पढ़ लें और आत्मसात कर लें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *