मेरे स्वप्नों का बंगाल क्या था , और आज हो गया कंगाल

मेरे स्वप्नों का बंगाल क्या था , और आज हो गया कंगाल

नमस्कार दोस्तों।

यह पोस्ट हमें हमारे एक रीडर नाम बताना नहीं चाहते है ने भेजे है,

जिन्होंने अपने लाइफ के कुछ स्वप्ने के बारेमें बताये है,
मई या पोस्ट परनेके के बाद कुछ वक़्त खामोश बैठा रहा,

इन्होने या बताये है उनको कैसे देश चाहिए, और मुझे ऐसा लगता है के हमारे देश भारत में सब लोग एही चाहते है,
तो चलिए उनके इस अनमोल पोस्ट को shuru karte hai,

“हेलो सोवन भैया,

मेरे तरफ से आप सभी एडमिन को नमस्कार, और अगर या पोस्ट पब्लिश हो जाता है तो सभी रीडर्स को बहुत सारा प्यार,

आज या पोस्ट मई मेरे दिल का करने वाला हूँ, मई पश्चिम बंगाल के एक छोटे से गाओं से हूँ,

मैंने ऐसे तो एक मिडिल क्लास परिवार से हूँ लेकिन बचपन से शौख था पुलिस बन जायूँ, या उस वक़्त की बात है जब मई क्लास 8th में था, वक़्त बदलता गया धीरे धीरे मई जैसे bare होता गया मई भूल गया के मुझे क्या स्वप्ना था,




मई जब 12th पास किया तो मह्सूस हुआ के मुझे दुषरे ऐसे कुछ करने चाहिए जो हटके हो, फिर या वि भूलने लगा ग्रेजुएशन के लिए कॉलेज गया कोलकत्ता फिर अहसास हुआ के मई पुलिस, जज,

या फिर रेलवे या कोई वि गवर्नमेंट का नौकरी करून मुझे रिश्वत देना होगा, क्यों की मेरे कॉलेज के पास के एक लड़के न आत्महत्या कर्ली वजह उसने १५ लाख रुपये राजनीती करने वाले को नहीं दे पाया, फिर मैंने कोलकत्ता चोर कर उत्तर प्रदेश चला गया और होटल में वेटर क काम करने लगा , सोवन भाई वि मेरे साथ 4 महीने काम किये थे शायद वह भूल गए होंगे, फिर उन्होंने उनके लाइफ का सही सही रास्ता चुना उन्होंने होटल छोड़ के कंपनी ज्वाइन किया मुंबई में , और या ब्लॉग बनवाये,

दोस्तों या तो गया मेरा लाइफ,

हमने कोलकत्ता में जॉब क्यों नहीं की ?

वजह : मैंने रेलवे के लिए अप्लाई किये थे जिसका फॉर्म फी १०० रुपयेथे अब प हैब लगये हर vacancy में लगभग दिह्या जाता है १०००० ओपनिंग और हर ओपनिंग 40००० x १०० रुपये = 40000000,

जो की दरअसल अगर ४० हज़ार vacancy दिखाया जाता है उसमे से १००० को वि नौकरी मुश्किल सेदिए जते है बंगाल के सर्कार  से,

अवि जोफॉर्म फी 1० हज़ार लोगो केथे उसमे ही उन हज़ार लोगो के ज़िन्दगी के पगार देदिए जाते हैजो की लगभग ४ करोड़ होते है, अब बता ता हूँ आदर के बात अगर उन हज़ार लोग में से ८०० लोगतो रिश्वत से पॉलिटिशंस केमदत से नौकरी पे एते है अवि ८०० क्ष २५ लाख -२० करोड़ होते है,




अवि दोस्तों हर ज्वाइन के लिए २५ लाखमें कहासे लता था, मेरे पिताजी ने उनके लाइफ में सिर्फ २ लाख रुपये ही जमा कए थे, जो वजह थी गवर्नमेंट नौकरी न करने का , मई प्राइवेट नकृ कर सकता है लेकिन वह वि वह इ नहीं किया, वजह दोस्तों शायद आप यकीन नहीं करेंगे वह हर नौकरी के लिए लगभग १०० कंसल्टेंसी ही जो की सिर्फ नौकरी देगा एक और आपसे परिवटे नौकरी के लिए कंसल्टेंसी वाले बहुत ज्यादा ऐसे वसूलते ही पैसे क आप बिस्वास नहीं करेंगे ,

हमारे राज्य में:

सिक्ष्या मंत्री जी के नाम मदन मित्र जी है जो घरपे kam जेल में ज्यादा रहते है,
कितने सरे घोटालोके मालिक है जिनके कुछ खास speecehs है जैसे की ” गर्मी ५६ इंच का होता है ”
अब सिख़स्या मंत्री ऐसे है के लोग सिख्या क्या लेंगे,

हमारे राज्य में:

मुख्या मंत्री जी है जिनका नाम ममता Banerjee है, इनके स्पीचेस या बोलिये कारनामे तो हिस्ट्री में लिखा jayega ,




तो चलिए इनके कुछ स्पीचेस पर लेते है

“जब एक बच्चा पैदा होता है उसका वजन १३ kgs है इंसान के बच्चा “

2nd

“अगर नौकरी नहीं मिल रहा है तो बाल काटने का दुकान खोलिये”

तीसरा

:अगर नौकरी नहीं मिल रहा है तो वडा पाव का दुकान खोलिये मैंने ऐसे लोगो को देखा है के जो ५०० से सुरु करके ५ करोड़ तक बनाये है “

कारनामे:

शायद आप पुलिस, आईपीएस, ट्रैफिक पुलिस
, सीबीआई सुना होगा लेकिन सिविक पुलिस ज़िन्दगी में सुना है क्या जिसका पगार सिर्फ ३-४ हज़ार होता है,

कारनामे:




अपने टीचर के नाम सुना होगा लेकिन सिविक टीचर कभी सुना है,
बंगाल में या बकवास गवर्नमेंट ने सिविक टीचर निकले है जिसके पगार वि सिविक पुलिस के जैसे है,

अब चलते है वह के कुछ ख़ास बुद्धि जीबी (kanoon ke saath jude huye log) ke  बारेमें जानने के लिए,
दोस्तों हालही में हमारे वहा स्ट्राइक पे परे लिखे लोग नौकरी के लिए स्ट्राइक के लिए बैठे हुए थे लेकिन पुलिस सबको मर के भगा दिया,
तब उस

बुद्धि जीबी




लेवल के लोग बहार नहीं aye,
जब रापस होता गया तब वि नहीं aye,

लेकिन करोड़ का घोटाला करने वाला राजीब पुलिस के नाम के कलंक को जब अरेस्ट के लिए सीबीआई आया तो हमारे उस लोग साथ में मुर्ख मूर्खमंत्री स्ट्राइकपे बैठे,

जहाके मंत्री मुर्ख रहे वहा नौकरी इम्पॉसिबल,

मुझे कैसे सर्कार चाहिए,

सॉरी सिर्फ मुझे नहीं सभी को ऐसे शायद चाहिए होगा,

प्राइवेट जॉब के लिए कोई कंसल्टेंसी नहीं,
सरकारी जॉब के लिए जितना vacancy उतना ही फॉर्म निकलना,
देश के कोई वि जवान के बारेमें किसीवी न्यूज़ वाले को खबर न देना,
कोई वि न्यूज़चैनल में politics न दिखाना,




हर नौकरी में सबको ड्यूटी टाइम एक होना चाहिए,
पेमेंट, नए और फ्रेशर सबका एक होनी चाहिए,
हर स्टेट में ऑनलाइन पुलिस के बारेमें कंप्लेंट रूम होने चाहिए,
हर एक पुलिस स्टेशन में किसी वि चीज़ के बारेमें कंप्लेंट केबिन अलग से होना चाहिए,
हर स्टेट के लिए एक फिक्स्ड टीवी चैनल होगा जिसमे हर क्राइम और उसका खुलासा दिखाया जायेगा,
हर रेपिस्ट को ३ ghanta में फांसी होनी चाहिए,
पोलिसवाले रिश्वत लेता है तो उसे सीधे Kashmir बॉर्डर पे भेजना चाहिए,
कोई सरकारी लोग रिश्वत लेगा तो उसे सीधे Pakistan भेज देना होगा,

दोस्तों शायद मेरा सोच गलत होगा,
आपको कैसे देश चाहिए मुझे प्लीज बताएं में हर दिन कमेंट चेक करता रहूँगा ,

 

एडमिन ओपिनियन:
हेलो मेरे दोस्त, मई आपको भुला नहीं हूँ, हो सकता है मई सिर्फ कुछ दिन तुम्हारे साथ काम किया लेकिन मई कुछ नहीं भुला हूँ,
आपके इस पोस्ट मेरे मन का कर दिए अपने, धन्य बाद




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *