Migrating Your WordPress Website Here’s What You Must Need To Know Before Doing So In Hindi

Migrating Your WordPress Website Here’s What You Must Need To Know Before Doing So In Hindi

Migrating Your WordPress Website Here’s What You Must Need To Know Before Doing So In Hindi

 

नमस्कार दोस्तों,

अगर आप सोच रहे है, आपके वर्डप्रेस ब्लॉग वेबसाइट को माइग्रेट करने के बारेमें,

 

चाहिए आप ब्लॉग / वेबसाइट किसी वि वजैसे क्यों न माइग्रेट करे, चाहे वो स्लो होस्ट के कारन हो या फिर सिक्योरिटी के कारन,

लेकिन निचे के पूरी पोस्ट पढ़ ले, इसके बारेमें,

 

जहाँ हमने आपको  बताया के वर्डप्रेस माइग्रेशन के पहले आपको कुछ चीज़े जो आपको जरूर जान लेना चाहिए,

 

“Migrating Your WordPress Website Here’s What You Must Need To Know Before Doing So In Hindi”

 

#1 : Take Full Back Up – पूरी साइट का बैक आप ले:

 

दोस्तों आप चाहे कोई वि ब्लॉग हो वेबसाइट हो, कुछ वि हो चाहे बो वर्डप्रेस से बनी  हो या फिर अबान्तेकार्ट से बनाया गया हो,

उसमे कुछ वि करने से पहले सबसे पहले बैक आप ले लें जरूर,  तरीके से इसमें बैक अप होते है, जिसके जानकारी निचे है,

 

Back Up Automatically :

 

हर एक आछ्या होस्टिंग सर्विस में ONE क्लिक बैकअप ऑप्शन जरूर होते है, जो की आसान होता है, कोई वि साइट बैक अप के लिए,

 

Back Up Manually :

 

किसी किसी सस्ती होस्ट में आटोमेटिक बैकअप फंक्शन नहीं होती है, तब आपको फाइल मैनेजर से और mysql से बैकअप लेना होगा,

 

#2 : PHP Version Check – PHP के वर्शन चेक कर ले :

 

किसी वि  वर्डप्रेस में सबसे नया php वर्शन सबसे आछ्या चलता है, इसलिए आपको आपके पुराने होस्ट में और  नए होस्ट में इससे चेक करना होगा सबसे पहले,

 

In Control Panel Old Hosting :

 

आपको आपके पुराने होस्ट में सबसे पहले PHP वर्शन देख लेना चाहिए,

 

उसके बाद ही अगर होस्टिंग वि अगर माइग्रेट कर रहे है, तो इस गलती को गलती से वि मत करना,

 

अगर आपके नयी होस्ट में PHP वर्शन अलग होगा तो साइट क्रैश हो जा सकता है, नहीतो साइट स्लो हो सकता है,

 

In Control Panel New Hosting :

 

नयी होस्ट अगर अपने लिया है तो PHP वर्शन पुराने होस्ट के बराबर ही होनी चाहिए, नहीतो साइट में प्रॉब्लम आ सकता है,

 

 

 

Migrating Your WordPress Website Here’s What You Must Need To Know Before Doing So In Hindi

 

#3 : Domain Name Server Change – डोमेन नाम सर्वर बदलना :

 

अगर अपने होस्टिंग लेते वक़्त फ्री में डोमेन वि ख़रीदे है, तो ऐसे में आप अगर होस्टिंग बदल रहे है,

 

तो आपको सबसे पहले साइट को बैकअप लेकर डाउनलोड करना है,

 

उसके बाद नए  होस्ट में ट्रांसफर करना चाहिए, अगर पहले डोमेन फिर साइट मूव करेंगे, तो ये संभव नहीं है, इसलिए इससे ध्यान में रख लें,

 

#4 : Structure Setting – इसके बनाबट जाँच ले :

 

हर एक साइट के बनाबट और स्पीड लोगो को आकर्षित करता है,

 

अब कोई वि कारन से आप सोच रहे है आपके ब्लॉग में ट्रैफिक जैसे वैसे आता रहे,

 

तो आपको इसके स्ट्रक्चर का ख्याल रखना चाहिए, वर्डप्रेस मूव करने से पहले,

 

Permalink Structure :

 

हर एक पोस्ट के पर्मालिंक इसके स्ट्रक्चर को गूगल के प्लागारिस्म कैच करता है,

 

और हैडिंग / टैग के हिसाब से पोस्ट रैंक करता है,

 

ऐसे में साइट माइग्रेशन के बाद अगर इसके स्ट्रक्चर ही बदल जाये,

 

तो रैंकिंग में फिर वापस आना काफी मुश्किल हो जाता है,

 

Post Image Url Structure :

 

पोस्ट में इमेज के कैप्शन से लेकर नाम तक सर्च इंजन में विजिबिलिटी प्रदान करती है,

 

ऐसे में अगर इसके यूआरएल नाम सबकुछ बिगड़ जाये  मूविंग के समय तो प्रोब्लेम जरूर आ सकता है,

 

Admin URL Structure :

 

वर्डप्रेस में कण्ट्रोल पैनल के बाद एडमिन के सिक्योरिटी इम्पोर्टेन्ट है, अगर साइट मोए कर रहे है,

 

सबसे पहले एडमिन यूआरएल चेंज प्लगिन्स अगर इस्तेमाल कर रहे, तो इससे पहले डीएक्टिवेट करके साइट मूव करे,

 

#5 : Create Offline One – ऑफलाइन में इससे मूव करे :

 

नए ब्लॉगिंग में हर कोई लाइव साइट में काम करते है,

 

जो की हैकिंग के सम्भाबना फ्यूचर में बड़ा देता है,

 

इसलिए अपनी  लाइव साइट के बैकअप को पहले ऑफलाइन xampp के साथ जोड़के इससे चेक करे.

 

इसके लिए xampp अपने pc में इस्तेमाल करे, और जिस साइट को मूव कर रहे है,

 

उससे ऑफलाइन  कर दें सबसे पहले और xampp में इससे चेक करे,

 

 

#6 : Dont Forget The SEO – SEO को न भूले  :

 

seo के बिना कोई वि साइट में ट्रैफिक ठीक से नहीं आता है,

 

इसलिए इसके ऑन पेज seo और ऑफ seo  सो में ध्यान दे,

 

On Page SEO / OFF Page SEO :

 

अपने आर्टिकल को लिखा अच्यी तरीके से,

 

लेकिन जब मूव करेंगे हो  सकता है इसके दोनों पेज seo को पहले देख लें,

 

इसके लिए websiteseochecker  इस्तेमाल कर सकते है,

 

#7 : Change Search Console SiteMap – सर्च कंसोल में sitemap को बदल लें :

 

अगर अपने डोमेन बदल दिए, साइट माइग्रेशन के बाद अपने साइट के SiteMap को resubmit  के लिए न भूले, चाहे नया डोमेन हो या पुराणी,

इसके लिए YOAST के इस्तेमाल करे,

 

#8 : SSL Using – SSL के इस्तेमाल :

 

आप मूविंग कर रहे साइट के, कॉपी कर रहे पोस्ट, बैक उप लेकर डाउनलोड कर रहे फाइल,

 

फाइल जिल्ला के इस्तेमाल कर रहे है काम आसान के लिए,

लेकिन ध्यान दे SSL के इस्तामल जरूर करे, पुराने होस्ट और नए होस्ट दोनों में,

 

#9 : Check Internal Error  :

 

बैकअप से पहले, अपनी साइट के कमी को देख लें, उससे नोट करे, फिर मूव करे,

 

क्यों की हो सकते है, के जो एरर इंटरनली इस होस्ट में न हो, वो नए होस्ट में हो, इसलिए पूरा ध्यान रखे इस चीज़ का,

 

#10 : Make It Offline – इससे ऑफलाइन करे :

 

अगर आपके साइट में आछ्या ट्रैफिक है, और साइट को आप मूविंग कर रहे है,

 

तो आपको इससे ऑफलाइन करना होगा, और जैसे मैंने बताया आपको डोमेन आखिर में मूव करना है,

 

अगर ऑफलाइन नहीं करेंगे तो मैलवेयर अटैक हो सकता है, 

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *