जज, नेता सहित 15000 लोगों को मार दिया था इस ड्रग माफिया ने’

जज, नेता सहित 15000 लोगों को मार दिया था इस ड्रग माफिया ने’

किंग ऑफ कोकीनकहे जाने वाले कोलंबिया के ड्रग माफिया पाब्लो एस्कोबार ने 10 से 15 हजार लोगों को मार दिया था या उनकी मौत के लिए वह जिम्मेदार था. ये बात कही है कि उस अमेरिकी अधिकारी ने जिसने पाब्लो को खत्म करने में अहम भूमिका निभाई थी.

अमेरिका के ड्रग एन्फोर्समेंट एडमिनिस्ट्रेशन के एजेंट रहे स्टीव मर्फी ने एक इंटरव्यू में कहा है कि पाब्लो के पास दुनियाभर का पैसा था. दूसरे तस्कर भी उसे पैसे देते थे. फ्लाइट भी उड़वा दिया था पाब्लो ने

पाब्लो एस्कोबार को 44 साल की उम्र में 2 दिसंबर 1993 को मार गिराया गया था. लेकिन मौत के पहले उसने पुलिस और सैनिकों को खूब छकाया था और भीषण आतंक मचाया था.

कार उड़ाना या किसी बड़े नेता की जान लेना उसके लिए मामूली बात हो गई थी, उसने पैसेंजर से भरी फ्लाइट तक को उड़वा दिया था. उसका सपना कोलंबिया का राष्ट्रपति बनने का भी था.

पाब्लो 1970 के दशक में कोकीन ट्रेड में आया था और अन्य माफिया के साथ मिलकर मेडेलिन कार्टेल बनाया था.

पाब्लो की ताकत का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि उसने सरकार पर दबाव बनाकर अपने लिए खास जेल खुद ही तैयार करवाया था. उसने शर्त रखी थी कि जेल के कुछ किलोमीटर तक पुलिस नहीं सकती है.

अमेरिकी एजेंट मर्फी ने कहा है कि उसका जेल कम, क्लब ज्यादा था. अगर वह वहां बैठकर सिर्फ अपने पैसे गिनता तो वह बच सकता था. लेकिन उसने ऐसा नहीं किया.

एजेंटी मर्फी से इन्सपायर होकर ही पाब्लो के ऊपर नार्को नाम से टीवी सीरीज बनाई गई है. मर्फी ने कहा है कि जो हिंसा टीवी सीरीज में दिखाई गई है, उसकी तुलना में असल में पाब्लो के द्वारा की गई हिंसा अधिक खौफनाक थी.

पाब्लो आसानी से जज, नेता, पत्रकार और विरोधी माफिया को मरवा देता था. कहा जाता है कि एक वक्त में अमेरिका में सप्लाई होने वाले कोकीन के 80 फीसदी हिस्से पर पाब्लो का कंट्रोल था.

पाब्लो आसानी से जज, नेता, पत्रकार और विरोधी माफिया को मरवा देता था. कहा जाता है कि एक वक्त में अमेरिका में सप्लाई होने वाले कोकीन के 80 फीसदी हिस्से पर पाब्लो का कंट्रोल था.

कोकीन से उसकी कमाई इतनी अधिक थी कि फोर्ब्स मैगजीन ने उसे दुनिया के 10 सबसे धनवान लोगों में शामिल किया था.

वह सरकार से लेकर पुलिस महकमों और सेना में लोगों को अपनी तरफ करने के लिए मोटा पैसा देता था. चैरिटी प्रोजेक्ट और सॉकर क्लब के जरिए वह काफी पॉपुलर भी हो गया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *