सीमा पर तनाव के बीच करतारपुर कॉरिडोर पर भारत-पाक में वार्ता, हो रही विभिन्‍न पहुलओं पर चर्चा – PUNJAB

सीमा पर तनाव के बीच करतारपुर कॉरिडोर पर भारत-पाक में वार्ता, हो रही विभिन्‍न पहुलओं पर चर्चा – PUNJAB

डेरा बाबा नानक में एक हफ्ते में शुरू होगा करतारपुर कॉरिडोर का काम

उधर श्री करतारपुर साहिब गुरुद्वारा के दर्शनों के लिए भारत-पाकिस्तान के बीच बनने वाले कॉरिडोर के लिए जमीन का जायजा लेने लैंड पोर्ट अथॉरिटी दिल्ली की टीम बुधवार शाम डेरा बाबा नानक पहुंची। टीम में अधिकारी अखिलेश यादव,

परमजीत ङ्क्षसह नागरा व एसडीएम गुरसिमरन सिंह शामिल थे। टीम ने बताया कि एक हफ्ते में कॉरिडोर का काम बड़े स्तर पर शुरू कर दिया जाएगा और 11 नवंबर तक कॉरिडोर का काम पूरा कर संगत को समर्पित कर दिया जाएगा।

टीम ने करतारपुर कॉरिडोर के पास श्रद्धालुओं के लिए बनने वाले विश्राम गृह के लिए चयनित जमीन भी देखी। लैंड पोर्ट अथॉरिटी की टीम वीरवार को अटारी बॉर्डर पर करतारपुर कॉरिडोर के संबंध में भारत-पाक अधिकारियों के बीच होने वाली बैठक में भी भाग लेगी।

पटवारी की कोठी बचाने के लिए कॉरिडोर के पिलर 20 फीट खिसकाए, किसानों ने वापस लगाए

कॉरिडोर के लिए चयनित जमीन पर लगाए गए पिलरों को कुछ लोगों ने बदल कर 20 फीट दूर खिसका दिया। गांव पखोके के किसानों को जब इस बात का पता चला तो उन्होंने पिलरों को पुरानी जगह पर लगा दिया। गांव पखोके के किसान सूबासिंह, जोगिंदर सिंह, जैमल सिंह, पलविंदर सिंह, मलकीत सिंह, संत सिंह और कुलवंत सिंह ने बताया कि एक पटवारी की कोठी बचाने के लिए पिलरों को 20 फीट दूर संत सरोवर गुरुद्वारा साहिब की ओर खिसका दिया गया था। अब पिलरों को दोबारा पुरानी जगह पर लगा दिया है। वहीं एसडीएम गुरसिमरन ङ्क्षसह ढिल्लों का कहना है कि मामला उनके ध्यान में आया है। जमीन के जिन नंबरों की अधिसूचना जारी हुई है, कॉरिडोर वहीं पर बनाया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *