Things You Must Need To Know Before Start A Blog In Hindi

Things You Must Need To Know Before Start A Blog In Hindi

Things You Must Need To Know Before Start A Blog In Hindi

हेलो दोस्तों,
आप इस पोस्ट पे है इसका मतलब आपको ब्लॉग्गिंग में इंटरेस्ट है और इसे सुरु करना चाहते है,

 

लेकिन क्या आप जानते है ब्लॉग्गिंग क्या है ? अगर नहीं तो iha से आप पढ़ सकते है,

 

आपको इसके लिए किन किन चीज़ो की अबस्यकता होगी , कैसे शुरू करेंगे इसके बारेमें पूरी जानकारी मैं आपको देने वाला हूँ,

तो चलिए देख लेते है।

 

1 – एक अच्या ब्लॉग platform चुन्या होगा । you have to choose a perfect blogging platform।

 

आपको एक प्लेटफार्म चॉइस करना होगा ।
जैसे blogger.com या फिर wordpress

 

blogger.com इहा से आपको फ्री होस्टिंग मिलजायेगा सब डोमेन के साथ, आपको सिर्फ डोमेन इसके साथ कनेक्ट करना होता है

 

wordpress फ्री सॉफ्टवेयर है जहा पे आप ब्लॉग डिज़ाइन कर सकते है,

लेकिन इसके लिए आपको होस्टिंग अलग से लेना होगा। मै आपको वर्डप्रेस रेकमेंड करूँगा अगर आप ज्यादा सिक्योरिटी और फीचर्स चाहते है तो

 

2 – आपको एक डोमेन खरीदना होगा जो की TLD  हो। you have to buy a  TLD Domain।

 

अगर आप डोमेन क्या है जानना चाहते है इहा क्लिक कीजिये,

 

इंटरनेट पे बहुत सरे वेबसाइट है जो आपको फ्री डोमेन्स प्रोवाइड करते है,

लेकिन yea अच्या और सेफ नहीं होता है । इसलिए आप TLD डोमेन का इस्तेमाल कीजिये और थोड़ी बहुत पैसे खर्च करके इसे ख़रीदे,

 

अगर आप ब्लॉगर के सब डोमेन वि इस्तेमाल करते है  तो वि आपको ब्लॉग रैंक करने में थोड़ी तख़लीफ़ होगी,

क्यों की गूगल पे इसे आसानी से visibility नहीं मिलती है,

आपको visitors लॉसेस का वि चान्सेस ज्यादा होते है,

 

3 – होस्टिंग लेना होगा । You Need A Hosting Accounts .

 

अगर आप ब्लॉगर डॉट कॉम blog नहीं कर रहे है तो आपको एक होस्टिंग का जरूरत होगा,

 

हॉस्टिंग क्या है ? आप iha से जान सकते है

 

कौनसी हॉस्टिंग लेना चाहिए ब्लॉग के लिए  ?

 

 

आप शुरू में शेयर्ड हॉस्टिंग USE कर सकते है, लेकिन आगे चलके हो सकता है आपको दुषरे vps हॉस्टिंग लेना परे,

पेड हॉस्टिंगमें आपको सपोर्ट मिलता है जो की ब्लॉगर डॉट कॉम se नहीं मिलता.

 

4 – आपको आपके ब्लॉग खुद से या फिर किसी डेवलपर से डिज़ाइन करवाना होगा। you need to design your blog by self else to do it by some developers, 

 

दोस्तों ब्लॉगर या फिर वर्डप्रेस दोनों के लिए आपको डिजाइनिंग अच्यीकरनी होगी,

क्यूंकि डिज़ाइन से लोगो के readablility अच्या होता है, और जो वि रीडर होंगे उनके दिमाग पे यह रहता है  .

 

डिज़ाइन के लिए आप हमारे ब्लॉग पोस्ट फॉलो कर सकते है iha से, और खुद से वर्डप्रेस डिज़ाइन कर सकते है,

 

आजकल यूट्यूब पे वि बहुत सरे वीडियोस है उसे वि आप फोलो कर सकते है,

 

अगर आपको जरूरत है ब्लॉग के तो हमारे ब्लॉग पैकेजेस वि आप खरीद सकते है, इसके लिए iha पे क्लिक कीजिये

 

5 -आपको खुदसे पूछना होगा आप ब्लॉग क्यों बना रहे है । you have to ask yourself why are you making this blog ।

 

दोस्तों आप मई हर कोई ब्लॉगर एक ब्लॉग शुरू करते है एअर्निंग के लिए, नहीं गलत अगर आप सिर्फ अर्निंग

 

के लिए ब्लॉग कर रहे है तो आपको ज्यादा से ज्यादा 6  से 7 महीने तक ही आप काम कर पाएंगे,

 

फिर जब आपको अर्निंग नहीं होगा, अपने आप से आप ब्लॉग बंध कर देंगे, इसलिए ब्लॉग बनाने से Pehle

 

अपने आपसे पूछे क्या मैं सिर्फ अर्निंग के लिए ब्लॉग्गिंग कर रहा हूँ या फिर knowledge शेयर के लिए,

 

6 – सही टॉपिक चुने शुरू करने से पहले । Choice The right topic before start।:

 

दोस्तों ब्लॉग्गिंग में पैशन होना चाहिए, आपके प्रोफेशन को वि आप ब्लॉग में लिख सकते है,

 

अगर आपको किसीवी चीज़ में जैसे की ट्रैवेलिंग, हिस्ट्री,जियोग्राफी ऑनलाइन एअर्निंग,

 

टेक्नोलॉजी के बारेमें अगर आपको   ज्ञान या फिर कोई वि टॉपिक पे आपको नॉलेज है आप उसे लेके शुरू कर सकते है,

 

जैसे मेरे इस ब्लॉग मैं ट्रेवल और वेब डेवलपमेंट रिलेटेड पोस्ट है है, आपको ऐसे ही एक पर्टिकुलर टॉपिक चॉइस करना होगा,

 

अगर aap बहुत सरे टॉपिक अकेले कवर करने का कोशिश करेंगे तो आप न कमायप हो सकते है ,

 

7 – थीम या फिर डिज़ाइन में ध्यान दे रेस्पॉन्सिव होनी चाहिए blog । theme or design must be responsive in blog:

 

जब आप आपका ब्लॉग बना रहे है आपको ध्यान रखना होगा आपके ब्लॉग थीम जो आप उसेj कर रहे है

 

उसे रेस्पॉन्सिव होनी चाहिए, रेस्पॉन्सिव थीम से आपको आपके विजिटर को कंटेंट पढ़ने में आसानी होती है ,

 

इससे जब विसिटोर्स कंप्यूटर या फिर मोबाइल फोन से पोस्ट्स को पड़ेंगे रेस्पॉन्सिव डिज़ाइन के कारन

 

आपके विसिटोर्स को प्रॉब्लम नहीं होगी.

 

 

8 – ब्लॉग्गिंग टिप्स इस नाम से कोई एक अच्या खासा किताब खरीद ले , Buy a book named with blogging tips:

 

अपने सही परेह है आपको किताब के वि parnah अबस्यकता होगी, इससे आपको और ज्यादा ज्ञान मिल जायेगें,

 

जैसे की आप आपके साइट पे ट्रैफिक कैसे बरायेंगे,

 

कैसे साइट सेफ रखेंगे ऐसे ही कुछ खास जानकारी

 

9 – आपको आपके लिखने के अंदाज़ को बदलना चाहिए, you need to change your writing skills :

 

दोस्तों लिखने के तरीके से आपके रीडर्स attract होते है, आपके कंप्यूटर के ms word से आप प्रैक्टिस शुरू कर सकते, है,

 

10 – SEO के बारेमें थोड़ी बहुत जानकारी रखिये , Learn About SEO:

 

दोस्तों seo या फिर सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन बहुत ख़ास मैंने रखता है इसमें, लेकिन मुझे खुद इसके

 

बारेमें जानकारी ख़ास नहीं है, आपको मई suggest करूँगा किसी सो एक्सपर्ट के मदत लेने के लिए,

 

जो आपके लिए गूगल पे आपके वेबसाइट को रैंक करवा सके,

 

 

11 -कंटेंट अलग होनी चाहिए , content should be different:

 

 

एक कहाबत है कंटेंट इस किंग ऑफ़ पोस्ट, इसलिए आपके कंटेंट बिलकुल अलग होनी चाहिए दुषरे से,

 

इससे आपको फोल्लोवेर्स ज्यादा मिलने के चान्सेस होते हैं.

 

12 – शेयरिंग , sharing:

 

आपके पोस्ट्स को शेयर के लिए आपको कुछ कंटेंट शेयरिंग प्लेटफार्म की जर्रूरत होगी जैस की फेसबुक,।

 

ट्विटर , Instagram ,

 

सोशल मीडिया के मदत से आपको ट्रैफिक आपके ब्लॉग पे जर्रोर मिल सकता है,

 

इसके लिए सोशल प्लेटफार्म पे आपको एकाउंट्स बनवाना होगा

 

13 – गेस्ट पोस्ट alow रखे , allow guest posts:

 

guests पोस्ट्स आपको आपके ब्लॉग पे रखना होगा, इससे लोग उनके पोस्ट आपके ब्लॉगपे लिखेंगे

 

जिसके मदत से आपको रंकलिंग अच्या हो सकता है

 

 

14 – फोटोज एडिटिंग सीखे , learn photo editing:

 

 

आपको फोटोज editing सीखना होगा आप जितना अच्या फोटोज शूट करेंगे या फिर बनाके एडिट करेंगे

 

उतना आपको अपकें पोस्ट व्यूज मिलने के चान्सेस बढ़ जाते है .

 

15 – आपको रुकना नहीं चाहिए , you won’t need to stop:

 

ब्लॉग १ साल होगये २०० से ज्यादा कंटेंट है विजिटर नहीं है फिर वि आपको कंटेंट अपडेट करनी चाहिए,

 

जिस ब्लॉग में रेगुलर अपडेट ३ या फिर ४ दिन में उस ब्लॉगको गूगल पीछे कर देते हैं अगर आपको seo के बारेमें नॉलेज न हो तो

 

16 – लिखिए सिखने के लिए अर्निंग के लिए नहीं , write for learn not for earn:

 

अगर शुरू से आपको लगता है आपको अर्निंग करनी है तो आपको फ़ैल होना अनिबर्य है , आप सिर्फ काम करते जाये बिना रुके,

 

एअर्निंग अपने आप आपको आने वाला है, अद्सेंसे स्पॉन्सरशिप और बहुत कुछ टूल्स से ,

 

Things You Must Need To Know Before Start A Blog In Hindi

17 – वेबसाइट पे अबाउट अस पेज विजिबिलिटी अनिबर्य है  , must have to show about us page:

 

या एक छोटीसी बायत लगता है लेकिन या ही सच है आपके १०० रीडर में से ९० रीडर्स आपके ब्लॉग ओनर के बारेमें ज्यादा इंटेरेस्ट रखते है,

इसलिए इसे आपके फुटर पे रखना बेहतर है

 

18 – गूगल एनालिटिक्स टूल्स के इस्तेमाल कीजिये , use google analytics tool:

 

इस टूल के मदत से आपको आपके रीडर्स को आपके ब्लॉग पे क्या पढ़ना पसंद है आप जान पाएंगे,

 

उसी के रिलेटेड पोस्ट आप फिर alag तरीके से लिख सकते है

 

19 – दुषरे ब्लॉगर को संपर्क करिये , contact other bloggers:

 

एक करबी सच जो लाखो ब्लॉगर को हार्ट करेगा जो मैंने खुद फेस किया, इंडिया के कुछ ब्लॉगर है जो की आपको मदत नहीं करेगा ,

 

लेकिन हर ब्लॉगर ऐसे बिलकुल नहीं है, specially इस ब्लॉगर के ओनर तो नहीं,

 

आपको अगर आपके ब्लॉग के बारेमें कोई सवाल है तो आप उनसे डायरेक्ट संपर्क कर सकते है मेल से ,

 

अगर आपके पहचान में कोई ब्लॉगर है आप उनसे बोल सकते है आपके ब्लॉग को रैंक कैसे कराएँगे, उनसे सलाह ले सकते है,

 

20 – कीवर्ड सर्चिंग सीखे , learn keyword planner:

 

कीवर्ड प्लानर उन सब्द का naam है जिसके मदत से आपके १००० व्यूज पानेवाला पोस्ट १ लाख व्यूज pata है,

 

आपको गूगल के मदत से या फिर अन्य प्लेटफार्म से कीवर्ड प्लान करना होगा जो ज्यादा सर्च होता हो,

 

उसके related पोस्ट वि आपको डालना होगा, जिससे आपके रीडर्स को अच्या कंटेंट मिल सके।

 

Things You Must Need To Know Before Start A BlogIn Hindi – एक ब्लॉग सुरु करने के लिए आबस्यक चीज़े हिंदी में

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *