Top 25 Mistakes Every New Blogger Makes In The Beginning In Hindi

Top 25 Mistakes Every New Blogger Makes In The Beginning In Hindi

Top 25 mistakes every new blogger makes in the beginning in hindi,

 

नमस्कार दोस्तों,

दोस्तों जब वि हम कोई  ब्लॉग बनाके उसमे काम करते है उसमे कुछ गलतिया जरूर करते है,

 

हमने ब्लॉग तो बना दिया, लेकिन उस गलतिया जो हमें ब्लॉग्गिंग से हमेशा के लिए हठ जानेमें  मजबूर करता है,

 

आप वि अगर निचे के इस गलतियों को फ़िलहाल कर रहे है, तो उसे बदल ने को कोशिश करे,

 

क्यों की अगर इन चीज़ो को अपने नज़र अंदाज़ कर दिया तो आपको परेशानी उठाना पड़ सकता है,

 

तो चलिए जानते है Top 25 mistakes every new blogger makes in the beginning in hindi,

 

आपको कैसे लगा पोस्ट कमेंट में जरूर बताये,

 

1 – Thinking Too Much – ज्यादा सोचना :

 

सोचना आछ्या बात है दोस्तों, इसे बिज़नेस mind कहा जाता है, लेकिन इतना ज्यादा सोचेंगे के आप संदीप माहेश्वरी जी बन जायेंगे ब्लॉगर के बदलेमें,

 

आप ब्लॉग्गिंग में अगर कदम रख रहे है तो आपको सोच दुशरो से सबसे पहले अलग रखना होगा,

 

कोई कोई ब्लॉगर यहां तक की जिन्हे ब्लॉग्गिंग कर्रिएर में एक्सपीरियंस है उनको ऐसे लगता है,

 

के कंटेंट अगर कोई दुषरे ब्लॉगर SAME टॉपिक पे लिखा है तो उन्हें नहीं लिखना चाहिए,

 

लेकिन ये सब सोच एकदम गलत है, आपको में बता दूँ, हमारे एक पोस्ट है TOP 111 blogger के लिस्ट हमने तैयार किया है,

 

जो पहले से गूगल पे मजूद है, लेकिन फिर वि इससे मैंने लिखा, और SEARCH में सबसे पहले एहि आता है,

 

इसलिए सोचे लेकिन ज्यादा नहीं,कंटेंट टॉपिक अगर एक  है तो उससे और आछ्या  बनाने के कोशिश करे दुशरो से,

 

2 – Not Promoting Of Content – कंटेंट को प्रमोट न करना :

 

अब अपने एक ब्लॉग बना दिया, उसमे लिखना शुरू कर दिया, और बस लिखते जा रहे है, अब क्या होगा ? जवाब – कुछ नहीं होगा,

 

अब क्यों नहीं होगा ?

देखें अब अपने एक कंटेंट लिखा और वह गूगल पे या फिर अन्य सेरच इंजन पे रैंक नहीं हो रहा है,

 

ऐसे में अगर आप आपके कंटेंट को प्रमोट करेंगे तो आपको सर्च इंजन विजिबिलिटी मिलेगी,

 

जब आप उसे प्रमोट करना बंध  कर देंगे तब वि वह रैंकिंग में रहेगा, ये सच है थोड़ा डाउन तो रहेगा लेकिन फायदा जरूर होता है,

 

3 – Not Perfectly Motivated – सही से मोटीवेट न होना :

 

आप कोई वि काम क्यों न करे, आपको सबसे पहले जो चीज़ के जरूरत होता है वो है मोटिवेशन,

 

अक्सर ख़ास करके ब्लॉगर के बात में कर रहा हूँ,

 

जहा मैंने देखा है ब्लॉगर किसी वेबसाइट के अर्निंग देखते है, और ब्लॉग्गिंग करने लग जाते है,

 

कुछ दिन बाद जब कुछ कमाई नहीं होते है, तो ऐसे उनको लगता है, ब्लॉग्गिंग में फ्यूचर नहीं है,

 

इसलिए आपको सबसे पहले फुल्ली मोटीवेट होना होगा उसके बाद ही आप ब्लॉग्गिंग शुरू करे,

 

4 – Choosing Worst Domain Name – डोमेन नाम गलत चॉइस करना :

 

आप कोई वि डोमेन देखके अंदाज़ा लगा सकते है TLD डोमेन है वो सब के नेम से ही पता लग जाता है के किस टॉपिक के ऊपर आपके साइट है,

 

जैसे हमारे ब्लॉग MYDREAMBLOG.IN है इससे पता लग जाता है के या ब्लॉग जरूर ब्लॉग्गिंग रिलेटेड है,

 

आप कैसे सही डोमेन के नाम लेंगे इसके बारेमें जानकारी आप यह से पा सकते है,

 

5 – Free Free Free Thinking – हमेशा सोचना फ्री फ्री और फ्री के बारेमें :

 

शुरुआत में फ्री चीज़ो के इस्तेमाल आछ्या है, लेकिन हमेशा सोचना मुझे ये करना है फ्री में,

 

वो करना है फ्री में, ये seo टूल फ्रीमें लेना है बगेरा बगेरा,

 

तो आप बहुत बड़ी भूल कर रहे है, मेरे पहला ब्लॉग में फेलियर का सबसे बड़ा कारन एहि था,

 

क्यों मैंने पहले ब्लॉग्गिंग में फ़ैल हुआ था, उसके जानकारी यह है आप पढ़ सकते है,

 

6 – Thinking About Money – पैसो के बारेमें सोचना :

 

एक कड़बी सच है के हर कोई ब्लॉग्गिंग में आता है पैसे के लिए, यह तक की मैंने खुद वि इसमें एअर्निंग के लिए हूँ,

 

लेकिन घर के खर्चा के लिए में ब्लॉगिंग में नहीं हूँ,

 

अगर आप सोच रहे के १ से ३ साल में ब्लॉग्गिंग में काम्याप हो जायेंगे और कमाने लगेंगे, तो आपको ब्लॉग्गिंग छोड़ देनी चाहिए,

 

क्यूंकि दोस्तों इसमें १ नहीं २ नहीं बल्कि ५ से ६ साल वि लग सकता है, काम्याप होने के लिए,

 

अब पैसे तो आप कमा सकते हो कोई शॉक नहीं, लेकिन उसमे समय ज्यादा लगता है,

 

लेकिन एक बात आप जान लें अगर आप कंटिन्यू काम करेंगे तो आप सक्सेस जरूर हो जायेंगे,

 

इसलिए आज ही दिमाग से पैसो के सोच निकल दे,

 

7 – No Socializing – सोशल मीडिया में एक्टिव न होना :

 

मेरे प्यारे दोस्तों  सोशल मीडिया के ज़माने है, मिलियंस लोग सोशल मीडिया जैसे फेसबुक,व्हाट्सप्प पे एक्टिव रहते है,

 

अब अपने कंटेंट लिखा उसे शेयर नहीं किये, तो लोग जानेंगे कैसे आपके ब्लॉग के बारेमें, सिर्फ सर्च इंडेक्सिंग इंजन के भरोसे में आप रहेंगे,

 

तो काम्याप आपसे १०० मिलो दूर में है ये समझना होगा आपको सबसे पहले,

 

इसलिए सोशल मेडिअस जैसे फेसबुक इत्यादि पे एक्टिव होना वि जरूरी है,

 

लेकिन इतना वि नहीं के आपके ज्यादा सोशल एक्टिविटी ब्लॉग पे ब्लैकहैड SEO  केटेगरी में आ जाये,

 

Top 25 mistakes every new blogger makes in the beginning in hindi

 

8 – Occasionally Blogging – कभी कभी ब्लॉग्गिंग :

 

अब ब्लॉग्गिंग आप कर रहे है, अच्यी बात है,

 

लेकिन अगर आप ऐसे ब्लॉग्गिंग कर रहे के, मन हुआ आज कुछ लिख देता हूँ, कल देखूंगा,

 

तो आप लिख लें आप फ़ैल केटेगरी में आ चुके है,  इसलिए आपको ब्लॉग्गिंग  एक्टिव होना बहुत ही जरूरी है,

 

हरदिन नहीं अगर संभव है तो हर हफ्ते पोस्ट डालना बेहत जरूरी होता है, रैंकिंग के लिए,

 

9 – Bad Quality Pictures Use – खराप फोटोज के क्वालिटी इस्तेमाल :

 

हर कोई बेक्ति किसीवी चीज़ को देखता है, चाहे वो शॉपिंग हो या फिर ब्लॉग इमेज सबसे ज्यादा मायने रखता है इमेजेज,

 

आप गूगल से कोई वि फोटो उठाया और उसे कंप्रेस करके इस तरह डाल  दिया के वह दिखेगा नहीं यूजर को,

 

तो सेकण्ड्स में वो यूजर आपके कंटेंट नहीं दुषरे के कंटेंट में same टॉपिक में अट्रैक्ट  हो जायेंगे,

 

ठीक ऑनलाइन शॉपिंग में प्रोडक्ट के पसंद करने  जैसे,

 

10 – Choosing Worst Host Service – खराप होस्ट प्रोवाइडर उसे करना :

 

HOSTING जो हर ब्लॉगर को करनी पड़ती है चाहे वो ब्लॉगर हो या फिर वर्डप्रेस  दोनों में होस्ट के  खूब जरूरी है,

 

वर्डप्रेस होस्ट के लिए किन किन बातो का आपको ध्यान में रखना है उसके बारेमें हमने इहा एक अर्टिकल लिखा है,

 

चाहे तो आप उससे पड़ सकते है,

 

11 – No Caring Of Sites AT The Time Of Developement – साइट बनाते समय ध्यान ना रखना :

 

हर एक ब्लॉग हमेशा से रेस्पॉन्सिव में ही रखनी चाहिए, दरअसल होता क्या है, कोई वि ब्लॉग डिज़ाइन करते है उसे कम्प्यूटर्स या फिर लैपटॉप से करते है,

 

इसके मतलब हुआ ये डेस्कटॉप  मोड में डेवलपमेंट होते है,

 

ऐसे में अगर हम ख्याल नहीं रखेंगे के डिज़ाइन मोबाइल में कैसे होगा तो ५० प्रतिसाद ब्लॉग्गिंग में फ़ैल होने के चान्सेस बढ़ जाता है,

 

इसलिए कभी वि डिज़ाइन रेस्पॉन्सिव  ही होनी चाहिए ,

 

Top 25 mistakes every new blogger makes in the beginning in hindi

 

12 – Self Hosted Sites – खुदसे होस्ट किया हुआ साइट :

 

हमेशा कोई  वि साइट आप बनाते है तो होस्टिंग पेड में ही ख़रीदे, blogger.com फ्री है लेकिन इसमें थीम के customizations कम होते है,

 

शार्ट टर्म ब्लॉग कर रहे तो इससे अपना सकते है, नहीतो वर्डप्रेस से पेड होस्ट ही ख़रीदे, फ्री  गलतीसे वि न लें,

 

फ्री होस्टिंग में आपको साइट के स्पीड / सर्वर के अपटाइम सबकुछ कम मिलेगा, इसलिए इसके इस्तेमाल न करना आपके लिए फायदेमंद रहेगा,

 

13 – Changing Site Design Frequently – साइट के डिज़ाइन बारबार बदलना :

 

अब आते है इस टॉपिक पे, जैसे मैंने नंबर ३ में बताया आपको सबसे पहले सेहीसे मोटीवेट होना होगा,

 

अब मोटिवेशन के साथ थीम के कनेक्शन क्या है ?

 

दोस्तों दरअसल हम थीम के बदल ने के बारेमें सोचते तब है, जब हमें खुदको थीम पसंद नहीं आता है,

 

वही थीम जो आप फ़िलहाल use  कर रहे एक समय था जब आपको खूब पसंद आया था, उससे आप बदलने के सोच रहे,

 

वजह क्या है ?

 

हो सके आपके ट्रैफिक कम आता  हो, हो सके आपको लिखने में और इंटरेस्ट न हो, हो सके अपने ठीक से ब्लॉग के डिज़ाइन सीखा नहीं था ,

 

अगर दोस्तों आपके थीम के कारन वेबसाइट स्पीड कम हो रहा  है,तो इससे आप अपना सकते है,

 

नहीं तो आप थीम के बदलने के जो बार बार सोच है उसे  बदले सबसे पहले,

 

क्यों की ये SEO में बहुत ही बुरा असर दिखाता है,

 

14 – Website Security – साइट के सिक्योरिटी पे ध्यान न रखना :

 

अब सिक्योरिटी के क्या जरूरत  साइट में, जो होगा होस्ट वाले देख लेंगे, ऐसे सोच रखेंगे तो आप लिख ले, आप ब्लॉग्गिंग में १ से २ साल ही टिकेंगे,इससे ज्यादा नहीं,

 

कारन क्या है ?

 

कारन एहि है, अगर सिक्योरिटी सही नहीं होगा, तो स्पैमिंग बढ़ने लगेगा, आपके साइट हैक हो सकता है,

 

इसलिए आपको साइट में सिक्योरिटी के पूरी ख्याल रखना चाहिए,

 

सबसे पहले आपके वेबसाइट के एडमिन यूआरएल बदल दे, ssl के इस्तेमाल करना न भूले, कमेंट स्पैम प्रोटेक्शन इंजन के इस्तेमाल करे,

 

ये तो दोस्तों वर्डप्रेस के लिए है, लेकिन अगर आप blogger.com के इस्तेमाल कर रहे तो  के जरूरत नहीं है,

 

नहीं तो इसके सर्वर डाउन होते है, नहीं स्पैम अटैक ज्यादा होते है,

 

15 – Finding Keyword & Keyword Always – हमेशा सिर्फ कीवर्ड और कीवर्ड ढूंडना:

 

अब अगर ब्लॉग में ट्रैफिक चाहिए तो कीवर्ड Re-Search बेहत जरूरी है, लेकिन अगर हमेशा आप इससे ढुंढते रहोगे,  तो लिखेंगे कब ?

 

और हाई कम्पीटीशन वाले आर्टिकल लिखोगे तो काम्याप होने के चान्सेस ९० प्रतिसाद कम हो जाता है,

 

कीवर्ड सर्च  करे लेकिन इतना नहीं के आप लौ कीवर्ड पे लिखना छोड़ दे,

 

अगर आप ऐसे करेंगे आपको नुकसान होगा,

 

कैसे ?

देखें आप जिस हाई कम्पटीशन वाले कीवर्ड के ऊपर वके कर रहे रहे है, उसमे आलरेडी कोई हाइली  सीओ करके लिखा होगा,

 

आप नए होंगे तो आपको विजिबिलिटी बी १०० से २ मिल सकता है,

 

लेकिन अगर एचएस  SEO करेंगे तो आपको काम्यापि मिल सकता है,

 

16 – Do Not Understanding Of Seo – SEO के बारेमें न समझना :

 

SEO जिसके बारेमें अपने सुना जरूर होगा, अगर ब्लॉग्गिंग कर रहे तो डेफिनिटेली आपको पता होगा,

 

लेकिन अगर आप बैकलिंक १ साल के अंदर १००० पूरा नहीं किये आपके सक्सेस होने के  चान्सेस बेहत कम है,

 

इसलिए दोस्तों बैकलिंक बनाये वो डूफ़ॉलो हो या No follow कोई फर्क नहीं पड़ता आप सिर्फ बैकलिंक बनाये,

 

वो वि उसी वेबसाइट से जहा आपके ब्लॉग रिलेटेड  आर्टिकल हो,

 

आप सपहले साइट को गूगल में INDEX करें, उसके बाद हर पोस्ट को वि इंडेक्स करते रहे,

 

इसके इलावा वि बहुत कुछ होते है SEO में उससे आप पहले सीखे, उसके बाद ब्लॉग्गिंग करे,

 

17 – Wrong Topic Choose – गलत लेख को चुनना :

 

में  एक कबि हूँ मुझे कबिता लिखना पसंद है, तो में वही करूँगा दोस्तों, में क्यों लिखने जायूँ पॉलिटिक्स के बारेमें,

 

जो की मुझे आता  नहीं, ठीक वैसे ही आप आपके पसंदिता TOPIC चुने रिलेटेड  टॉपिक चुन सकते है, लेकिन नॉलेज होना आबस्यक है,

 

ध्यान दे अगर MULTI  टॉपिक के ऊपर आपके ब्लॉग है,

 

तो फुटर में इसके जानकारी देना बेहत आबस्यक है, वो वि फुटर widget १ में नंबर १ में,

 

कारन क्या है ?

दोस्तों दरअसल गूगल के SEARCH  इंजन आपके ब्लॉग क्वे हैडर और फुटर को सबसे पहले index करता  है,

 

अगर आपके ब्लॉग MULTI टॉपिक में है, तो आप इससे जरूर रखे और आपके टॉपिक के जानकारी उहा दे जरूर,

 

18 – Language Selections – गलत भासा चुनना :

 

क्या आप हिंदी में बात करते है, क्या आप मराठी में बात  करते है, तो आप हिंदी में लिख रहे है लेकिन बात कर रहे है मराठी में,

 

ऐसे में आपको लिखते वक़्त थोड़ी मुश्किल के सामना करना पड़ सकता है,

 

अगर आप उस लैंग्वेज में माहिर न हो तो,

 

19 – Too Long & Too Short Post Writing – ज्यादा लम्बे और ज्यादा छोटे टॉपिक में लिखना :

 

दोस्तों हर कोई किसीवी चीज़ो को आसान से सम्जहना चाहते है,

 

जैसे अपने लिखा MANGO  जूस कैसे बनाते है ?

 

तो आप लिखंगे  पहले mango लेना है उससे मशीन में डालना है, गिलास रखना है और जूस बनाके पीना है, और साथ ही आप लिख सकते है कौनसा MANGO  सबसे आछ्या है,

 

लेकिन अगर आप लिख देंगे साथ में मानगो मैंने इतना रुपये में ख़रीदा है. मानगो ग्रीन था पीला था, ये अनवांटेड टेक्स्ट है, ऐसे में आपको ध्यान रखना होगा आपके पोस्ट ज्यादा लम्बा वि नहीं होना चाहिए, ज्यादा छोटा वि नहीं,

 

20 – No Thinking About Visibility Of Texts – लेख के दृस्यता के बारेमें न सोचना :

 

दोस्तों मैंने कुछ लिखा है, और अगर वो लोगो को दीख नेही रहा होगा तो म्हणत पानी में जायेगा,

 

नहीं समझे ? चलिए समझते है,

 

दरसल अपने अगर कुछ लिखा है और उसके कलर फॉण्ट eyecaching न हो, तब लोगो को इंटरेस्ट नहीं मिलेगा पड़नेमें,

 

इसलिए बेहतर होगा आप इसके फौरन सही कर दें, उसके बाद पब्लिश करे  पड़ लेने के बाद,

 

21 – Multi Blog Making – बहुत सरे ब्लॉग बना लेना :

 

आप शुरू में एक ही ब्लॉग बनाये, लोग आपको सलाह देंगे आप MULTI  ब्लॉग बनाये और उससे बैकलिंक बना ले वो वि डूफ़ॉलो वाला,

 

लेकिन मई आपको नहीं कहूंगा, शुरू में आप खुदके एक साइट बनाये उसमे खूब म्हणत करे, १ से २ साल के बाद उसमे जब थोड़ी बहुत ट्रैफिक आने लगे तब दुश्री वि बनवाये,

 

ऐसे क्यों ?

देखे दोस्तों, दरअसल एक ब्लॉग चलने में काफी मुश्किलों के सामना करना होता है, ऐसे में अगर आप और साइट बनाएंगे   तो और ज्यादा मुश्किल हो जायेगा,  क्यों की आप समय ठीक से ब्लॉग में   नहीं दे सकते है,

 

इसलिए शुरू में एक ही ब्लॉग बनवाये, आपके लिए एहि फायदे मंद रहेगा,

 

22 – No Footers  – कोई वि फुटर ना होना :

 

वेबसाइट में फुटर जो हर किसीकी होनी चाहिए, इसके कारन मैंने मेरे एक आर्टिकल में पहला बता चूका हूँ, जिससे आप यहां क्लिक करके पड़ सकते है,

 

चाहे वो sitemap के ही क्यों ना हो, उसके बारेमें वि हमने इहा लिखा है आप पढ़ सकते है,

 

Top 25 mistakes every new blogger makes in the beginning in hindi

 

23 – Frequently Old Post No Updation – पोस्ट को समय समय पे update ना करना :

 

अपने १ पोस्ट लिखा है १ साल पहले, जिससे आप १ साल से कुछ चैंजेस नहीं किया, अब दोस्तों हर चीज़े सेकण्ड्स में बदल जाता है, तो आपके पोस्ट क्यों नहीं,

 

मजाक था,

 

चलिए असली बात में चलते है, दरअसल गूगल या फिर अन्य सर्च इंजन कोई वि साइट के इंडेक्सिंग लेटेस्ट टॉपिक पर ही करने के कोशिश करता है अगर कंटेंट थोड़ा बहुत एक हुआ तो वि इंडेक्स करता ही है,

 

24 – Fake Traffic Driving  – उल्लू बनाने वाला ट्रैफिक लाना :

 

आप हस  क्यों रहे है, आप मेरे ब्लॉग पड़ेंगे थोड़ा बहुत मजाक आपसे कर लिए तो आप बुरा मान जायेंगे,

 

लेकिन फैक्ट एहि है दोस्तों,

 

दरअसल कोई कोई ब्लॉगर वेबसाइट में विजिटर न आनेके कारन ट्रैफिक इललीगल तरीके से लेते है, जैसे ट्रैफिक एक्सचेंज जैसे,

 

ये बहुत ही बेकार कोशिश है साइट के लिए,

 

इससे स्पैम वेबसाइट में बढ़  जाने लगता है, इसलिए इसके इस्तेमाल न करना ही बेहतर होगा,

 

Top 25 mistakes every new blogger makes in the beginning in hindi

 

25 – NO Care Of Website Speed – वेबसाइट के स्पीड में धयान ना रखना :

 

MOZ के DA बढ़ाने के लिए साइट के स्पीड आछ्या  होना बेहत जरूरी है, इसलिए वेबसाइट में स्पीड के ध्यान हमेशा  रखे,

 

अगर blogger.com में साइट है तो प्रॉब्लम नहीं लेकिन अगर पेड होस्ट है, तो थोड़ा मेहेंगा वाला होस्ट ले, लेकिन इसके स्पीड जरूर पहले चेक करे,

 

हलाकि DA से गूगल के कोई वि कनेक्शन नहीं है,

 

फिर वि साइट स्पीड और रैंकिंग के लिए इसके एहम भूमिका है,

 

दोस्तों कैसे लगा इस आर्टिकल कमेंट में हमें जरूर बताये,

 

आप फ्री में इहा से गेम खेल सकते है, 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *