Top WordPress Common Settings We Ignore Mostly In Hindi (WordPress Series-3)

Top WordPress Common Settings We Ignore Mostly In Hindi (WordPress Series-3)

Top WordPress Common Settings We Ignore Mostly In Hindi

 

नमस्कार दोस्तों,

आज लगभग  लाखो ब्लोग्स है पूरी देश में, जिसमे से हिंदी में हज़ारो में होंगे,

 

और ७० प्रतिसद  ब्लॉग वर्डप्रेस से ही बना हुआ है,

हमारे इस ब्लॉग में कुछ सिस्टम्स वर्डप्रेस के मदत से है, कुछ मैन्युअली कोडन के जरिये बना हुआ है,

 

जब वि हम वर्डप्रेस से ब्लॉग बनाते है, उसमे कॉमन कुछ काम करते है जैसे डिज़ाइन, डोमेन जोड़ना बस और लिखना शुरू कर देते है,

 

 

आज हम यह जानेंगे वर्डप्रेस के कुछ कॉमन सेटिंग्स जो हम ज्यादातर इग्नोर कर देते है,

 

Top WordPress Common Settings We Ignore Mostly In Hindi

 

1 – Clean up Your WordPress Dashboard :

 

दोस्तों जब हम ब्लॉग बनाते है, तब इसमें फाइल्स काफी कम  होता है,

 

तब साइट लोड काफी जल्दी होते है,

 

धीरे धीरे फाइल्स क संख्या बढ़ने लगता है, जैसे इमेजेज / पोस्ट / पेजेज इत्यादि,

 

और साइट तब काफी धीरे चलना शुरू करता है,

 

ऐसेमें आपके वर्डप्रेस एडमिन पैनल में लॉगिन होते ही, आपके डैशबोर्ड काफी बेकार हो जाते है,

 

धीरे धीरे इसमें बिना जरूरत के चीज़े वि एते है, जैसे इवेंट्स, स्पैम डिटेल्स बगेरा बगेरा,

 

ऐसे में इससे क्लीन रखे, इसके लिए DASHBOARD > SCREEN OPTION क्लिक करे आप अनवांटेड नोटिस को डिसएबल कर दे,

 

और जरूरत के चीज़ो को डैशबोर्ड में विज़िबल करा दे,

 

2 – Setup Your Website’s Title :

 

अक्सर हम क्या करते है, ब्लॉग मे लोगो लगा देते है, और इससे छोड़ देते है,

 

लेकिन टाइटल और TAGLINE नहीं देते है, इससे बदलना काफी आसान है, लेकिन इससे हम करते नहीं है,

 

इसके लिए आपको SETTING > GENERAL में क्लिक करना होगा,

 

और इससे बदलना होगा,

 

3 – Set Date and Time Settings :

 

हर एक ब्लॉग में पोस्ट के लिए डेट शो करना ब्लॉग रैंकिंग में मदत करता है,

 

अगर ब्लॉग पुराणी है, तो इससे आप डिसएबल करे कोई असुबिधा नहीं है, लेकिन अग्गर ब्लॉग नयी है,

 

तो आपको इससे एक्टिवटे रखना आपके ब्लॉग रैंक के लिए फायदेमंद रहेगा,

 

इसके लिए आपको SETTING > GENERAL में क्लिक करना है और इससे बदल लेना है, आपके जोन के हिसाब से,

 

4 – Setup Language Preferences :

 

आप ब्लॉग्गिंग हिंदी में कर रहे है, और डैशबोर्ड इंग्लिश में अगर आपको ठीकसे इंग्लिश नहीं अत हो मेरे जैसे,

 

तो एडमिन पैनल हैंडल करना थोड़ी मुश्किल हो जाता है, इसलिए SETTING > GENERAL में जाके इससे बदल लें,

 

5 – Imporatant Pages :

 

ब्लॉग में कुछ पेजेज काफी ज्यादा इम्पोर्टेन्ट होते है,

 

जैसे प्राइवेसी पालिसी / डिस्क्लेमर / टर्म्स एंड कंडीशंस इत्यादि,

 

जो की एडसेन्स के अप्रूवल जल्द मिलने में मदत करता है,

 

अगर इन पेजेज की बिना अपने अप्रूवल के लिए एडसेन्स में अप्लाई किया तो,

 

हो सकता है, इसमें आपको काफी ज्यादा टाइम लग जाये,

 

इसलिए सबसे पहले इस पेज को बना ले,

 

6  – Delete Unused Plugins / Themes / Post :

 

अगर आपके साइट में कुछ थीम / प्लगिन्स / पेज है, जो कुछ काम के नहीं है,

 

उससे सबसे पहले डिलीट कर दे,

 

वजह एक ही है, हो सके कभी अपने कुछ पोस्ट को पेज को अच्यी तरह से SEO ऑप्टीमाइज़्ड करके लिखा होगा,

 

और बाद में उससे इस्तेमाल करना बंध कर दिए,

 

तब गूगल के प्लागारिस्म  इससे डिटेक्ट करता है,

 

और जब कोई विजिटर इसमें आता है तब ये काम के नहीं रहता है,

 

और या आपके बाउंस रेट बड़ा देता है, उनुसेड प्लगिन्स थीम साइट स्लो कर देता है,

 

जो की ब्लॉग के रनिंग में प्रॉब्लम करता है,

 

इसलिए जिस प्लगइन / थीम / पोस्ट इस्तेमाल में नहीं है, उससे डिलीट कर दे, सबसे पहले।

 

Top WordPress Common Settings We Ignore Mostly In Hindi

 

7 – Setup Permalinks :

 

आप जैसे देख रहे है, एक ब्लॉग के पोस्ट : https://mydreamblog.in/personal-blog-meaning-in-hindi-mydreamblog-in/ है,

 

आप ध्यान दे इसमें हमने यूआरएल को काफी आसानी से रखा है,

 

जैसे हमारे डोमेन के नाम : https://mydreamblog.in/ और ठीक उसके बाद पोस्ट के नाम के यूआरएल है personal-blog-meaning-in-hindi-mydreamblog-in/,

 

ये काफी आसान होता है, विजिटर को आपके साइट के स्ट्रक्चर जानने के लिए,

 

और सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन के लिए,

 

इसमें आप आपके हिसाब से पोस्ट पर्मालिंक रख सकते है,

 

जैसे डोमेन के नाम उसे बाद इसके केटेगरी , उसके बाद पोस्ट यूआरएल और आखिर में पोस्ट id,

 

लेकिन एक seo ऑप्टीमाइज़्ड आर्टिकल के लिए आछ्या नहीं होता है,

 

इससे बदलने के लिए SETTINGS > PERMALINKS में क्लिक करे, जैसे आप निचे देख रहे है,

 

8 – Category Details :

 

हमने हमारे इस ब्लॉग में लगभग ५० केटेगरी बनवाये है,

 

लेकिन उसमे ज्यादा से ज्यादा २० केटेगरी में हम आर्टिक्ल लिखते है,

 

ऐसे में दोस्तों, बाकि के ३० केटेगरी रैंक नहीं होती है, और उन २० केटेगरी में जो हमें रैंक करना है,

 

उसमे हमकेवोर्द के इस्तेमाल वि करते है,

 

जैसे निचे देख रहे है,

 

9 – Update Your WordPress Profile :

 

हर किसीका अपना अपना अंदाज़ रहता है,

 

ऐसे में अपने प्रोफाइल को लोग पूरा नहीं करते है, जैसे अपने ब्लॉग में ऑथर के प्रोफाइल को,

 

उसके नाम, उसमे विज़िबल नाम ईमेल जैसे है वैसे ही कभी कभी छोड़ देते है, जो बाद में ख्याल में आता है,

 

में आप ऑथर के लिए अलग अकाउंट बनाये,

 

Top WordPress Common Settings We Ignore Mostly In Hindi

 

10 – Favicon :

 

मैंने कई पुराने ब्लॉगर को वि देखा है, वो अपने फ़ेविकॉन बदलते नहीं है,

 

लेकिन ये आपके ब्लॉग को अलग पहचान देता है, इससे जरूर बदल ले, चाहे अपकेबलॉग ब्लॉगर में हो या वर्डप्रेस,

 

फ़ेविकॉन बदल लेना चाहिए जरूर,

 

11 – Pinging Sites :

 

ब्लॉग में पोस्ट जल्दी रैंक करने के लिए ब्लॉग पोस्ट पिन्गिंग बेहत जरूरी होता है,

 

ऐसे मेंहम इस चीज़ को शुरू में बिलकुल नज़र अंदाज़ कर देते है,

 

और जब रैंक कर पाना मुश्किल हो जाता है, ब्लॉग्गिंग छोड़ देते है,

 

इसलिए ब्लॉग पोस्ट पिंग  होते है,

 

पिंग होता है आपके पोस्ट के जानकारी सेरच इंजन और अन्य वेबसाइट को बताना इ अपने कुछ नए आर्टिकल पब्लिश किये है,

 

ज्यादा जानने केलिए यह क्लिक करे,

 

12 – Become GDPR Compliant :

 

GDPR कॉम्पलिएंट हर एक ब्लॉग होनी चाहिए, नहीतो धीरे धीरे आपके ब्लॉग उन ब्लैक लिस्ट में डाला वि जा सकता है,

 

डरिये मात ऐसे कुछ नहीं होने वाले है, हमने आपसे थोड़ीसी मजाक किये, चलिए जान लेते है क्या है gdpr,

 

या एक लॉ है अगर आसान सब्दो में कहा जाये तो,

 

जिसके तहत अगर कोई कस्टमर किसी सेलर या फिर किसी वि बिज़नेस को उनके पर्सनल डाटा दिए है,

 

तब यूजर को या राइट होता है, के बो कभी वि उनके डाटा क्या क्या है उन बिज़नेस के पास उसके जानकारी केएक कप्यूनी प्रदान करे,

 

अगर उन कंपनी और बिज़नेस उस यूजर को या देने से अस्वीकार करता है, तब उन बिज़नेस के खिलाफ कारवाही की जा सकता है,

 

ऐसे में हमने इस मटर को  बताया ?

 

दरअसल दोस्तों अगर कोई ब्लॉग हमारे सिस्टम जैसे बानी है जो की यूजर रजिस्ट्रेशन सिस्टम है,

 

ऐसेमें, हर एक यूजर को या राइट है वो उनके अपने डाटा हमारे पास क्या है,

 

उसके एक कॉपी ले और किस किस जगह में हमने या डाटा प्रोवाइड करवाए है उसके जानकारी उसमे दे,

 

अगर हम ये दने में साख्ष्याम न होते है, तब gdpr रूल्स में हमारे ब्लॉग के खिलाफ कानूनी कारवाही की जा सकती है,

 

इसलिए रजिस्ट्रेशन सिस्टम बनाने से पहले इस चीज़ को ध्यान में पहले रख ले,

 

Top WordPress Common Settings We Ignore Mostly In Hindi

 

13 – Admin Default Url Change :

 

आपने एक बहुत ही सुन्दर ब्लॉग बनाये, बहुत आछ्या से डिज़ाइन किया,

 

लेकिन अगर वो हैक हो जाये तब आपको निश्चित रूप से खूब दुःख होगा,

 

इसलिए अपने एडमिन पैनल को सबसे पहले बदलदे, इसके लिए कई सारे प्लगिन्स मिलते है,

 

उसके इस्तेमाल कर सकते है,आप प्लगइन स्टोर से सर्च कर ले LOGIN URL CHANGE,

 

और आपको कई सारे प्लगइन मिल जायेंगे,

 

14 – A Offline Coming Soon System :

 

मैंने कई ब्लॉगर को देखा है, जिन्हे अगर इस चीज़ को में कहु के इस चीज़ को ब्लॉग में होना अब्सायक है,

 

तो बो लोग हस्ते है, और कहेते है , के अगर इससे हमने किया तो हमारे ट्रैफिक कम हो जायेगा,

 

लेकिन दोस्तों साइट हैक होने से आछ्या आपके ब्लॉग के कमजोरी लोगो को दिखने से आछ्या  आप इस चीज़ को जरूर इस्तेमाल करे,

 

इसके लिए आप प्लगिन्स के इस्तेमाल करे,

 

जो की अगर आप आपके ब्लॉग में अगर कभी कुछ अपडेट कर रहे तो इसके मदत से आपके साइट में किसीवी अटैक नहीं होगा,

 

15 – User Registration Systems :

 

यकीन माने अगर अपने ब्लॉग में रजिस्ट्रेशन सिस्टम है तो ट्रैफिक काफी जल्दी बढ़ने लग जाता है,

 

लेकिन आपको सिक्योरिटी के काफी ख्याल रखना होता है, क्यों की इसमें काफी ज्यादा स्पैमर रहते है,

 

इसलिए रजिस्ट्रेशन से लेकर पासवर्ड सेटिंग तक सब कुछ बहुत हार्ड रखे, ताकि स्पैमिंग में कोई काम्याप  हो,

 

दोस्तों आजके हमारे इस आर्टिक्ल Top WordPress Common Settings We Ignore Mostly In Hindi कैसे लगा हमें कमेंट में जरूर बताये,

 

 

 

 

 

 

धन्यवाद,

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *