web होस्टिंग क्या होता है ? कितने प्रकार के होते है ? what is web hosting ? types of web hosting .

web होस्टिंग क्या होता है ? कितने प्रकार के होते है ? what is web hosting ? types of web hosting .

नमस्कार दोस्तों मै सोवन आज हमारे वेब टुटोरिअल सीरीज का दुशरा पार्ट है,

आज हम डिसकस करने वाले है होस्टिंग के बारेमें
हम जानेंगे

१ – होस्टिंग क्या है ?

२  – कितने रकम के होस्टिंग होता है ?

३ – होस्टिंग कौनसी आछ्या होता है ?

१ – होस्टिंग क्या है ?

दोस्तों पिछले टुटोरिअल में हमने आपको बताया था डोमेन क्या है और और उसके अलग अलग प्रकार के बारेमें
उसे आप यह क्लिक करके पहले जान लीजिये फिर इस आर्टिकल पे आजाए नहीतो आपको समझ नहीं आएगा,

होस्टिंगके जरिये हम अपने डोमेन को वेबसाइट के रूप में बना पते है,

जैसे की कोई उस पर्टिकुलर डोमेन को सर्च करें तो वह होस्टिंग सर्वर को दिखता है जहापे हमारा वेबसाइट होस्ट किया हुआ रहता है,

इसका मतलब होस्टिंग जो आपके वेबसाइट डाटा को दिखता है डोमेन के माध्यम से, और सारे डाटा होस्टिंग साइट पे रहता है डोमेन पे नहीं,

कैसे डोमेन को होस्टिंग के साथ जोड़े ?
इसके लिए आपको डोमेन खरीदने के बाद उसपे लॉगिन होना होता है और DNS (नामसर्वेर) अपडेट करना होता है जो आपको आपके होस्टिंग प्रोवाइडर आपको देंगे नाम सर्वर,

1 –  कितने रकम के होस्टिंग होता है ?

A – SHARED HOSTING
B -VPS होस्टिंग

C -DEDICATED HOSTING
D -क्लाउड होस्टिंग
E -RESELLER होस्टिंग
F-WINDOWS होस्टिंग
G -FFMPEG होस्टिंग

A – SHARED होस्टिंग क्या है ?

दोस्तों शेयर्ड होस्टिंग का मतलब एक ही होस्टिंग सर्वर को शेयर करना.

इसका या मतलब होता है जैसे की एक कंप्यूटर है उसके अंदर १० फ़ोल्डर्स है सबका लेकिन अलग अलग पासवर्ड प्रोटेक्टेड फोल्डर इस तरह या काम करता है,

शेयर्ड होस्टिंग में आपको Linux/ssd तरह के होस्टिंग देखजाने को मिलते है लेकिन मुझे लिनक्ससबसेज्यादा पसंद है.

क्या शेयर्ड होस्टिंग लेना फायदेमंद होता है ?
आप इस आर्टिकल जो पढ़ रहे है इस वेबसाइट को शेयर्ड होस्टिंग पे ही रखे है मेरा वेब डेवलपर लेकिन कुछ ख़ास सिक्योरिटी वि दिए है ताकि हैकिंग न हो जाये
क्या या लेना चाइये ?

शेयर्ड होस्टिंग बहुत सस्ते होते है,
शेयर्ड होस्टिंग में वेबसाइट सेटअप बहुत आसान होता है,
अगर आपके साइट ट्रैफिक हाई हो जाता है तो वेबसाइट स्लो हो जाता है,
यह तक की अगर आपके शामे सर्वर पे दुषरे साइट पे वि ट्रैफिक बढ़ जाता है तो वि आपका साइट स्लो हो जाता है,
हाई ट्रैफिक अगर है तो आपको होस्टिंग बदलवाना पर सकता है,

B-VPS होस्टिंग:

ये होस्टिंग शेयर्ड होस्टिंग के मुकाबले महंगा होता है,

कैसे काम करता है ये होस्टिंग ?
इसमें आपको एक प्राइवेट सर्वर दिया जाता है पूरी की पूरी इसमें दुषरे साइट की फाइल नहीं रखा जाता है शेयर्ड होस्टिंग के जैसा

क्या ये लेना चाहिए ?
मै कहूंगा अगर आपके शेयर्ड होस्टिंग साइट पे लोड ज्यादा है तो इसे ले सकते है,
इसमें आपको वेब सेट उप के बारे में आईडिया होना चाहिए किन की ये रेडी नहीं होता है शेयर्ड होस्ट के जैसे,
ये बहुत ज्यादा ट्रैफिक ले सकते है बिना साइट स्लो किये,
बहुत महंगा होते है,
कोई हैकिंग चान्सेस बहुत काम होते है,

C-DEDICATED होस्टिंग:

दोस्तों जैसे की शेयर्ड होस्टिंग और वपस होस्टिंग में आपको एक सर्वर दिया जाता है जो की डेडिकेटेड सर्वर से सस्ता होता है और थोड़ा स्लो वि होता है
डेडिकेटेड सर्वर लेने के लिए आपके साइट पे बहुत बहुत ज्यादा अगर ट्रैफिक है जैसे की अमेज़न फ्लिपकार्ट स्नैपडील etc इन वेबसाइट पे करोड़ में ट्रैफिक होता है जिसके कारन इन कंपनी को डेडिकेटेड सर्वर लेना होता है,

क्या डेडिकेटेड होस्टिंग लेनी चाहिए ?
अगर आप वेबडेवेलोप्मेन्ट के शुरू में है तो मई कहूंगा नहीं,
इसमें आपको नॉलेज बहुत ज्यादा होना चाहिए क्यों की इसे आपको सेटअप करना होता है,
या कभी स्लो नहीं होता है,
या बहुत महंगा होता है जो की ऍम ब्लॉगर के लिए पॉसिबल नहीं है  लेना ,
या सिर्फ eommerce के लिए होते है,

D-क्लाउड होस्टिंग:

दोस्तों इसमें आपको खर्च फ्री या फिर कॉस्टली दोनों होते है,
जैसे की क्लॉउडफ्लारे इसमें आपकी डाटा क्लाउड में रहता है और नहीं आपको
या होस्टिंग पेड और फ्री दोनों में मिल जाता है,
क्या क्लाउड होस्ट उसेज करना सही है ?
मई कहूंगा अगर आपका साइट पे ट्रैफिक है और सिक्योरिटी काम है तो आप इसे उसे करे,
इसमें cache होता है जिसके कारन कभी कभी आपका वेबसाइट changes  turant show नहीं karta है .

E -RESELLER होस्टिंग:

दोस्तों आप जानकर हैरान हो जायेंगे के लोग लाखो में कमा रहे है इस होस्टिंग के जरिये,
इसमें आपको ऐसे कंपनी dhundna  होता है जो आपको कुछ स्टोरेज और फंक्शन्स देते है जो की जो इस होस्टिंग खरीद के उसे मॉडिफाई करके दुषरे को बेच सके,
आगे चलके हम इसके बारेमें जानेंगे,

क्या ये लेना चाहिए ?
अगर आप स्माल इन्वेस्टमेंट १५००० के Andar बिज़नेस करना चाहे तो इसे ले सकते है,
लेकिन आपको whm  एंड whmcs  क्या है और कैसे उसे करे सीखना होगा,
हम नेक्स्ट टुटोरिअल पे बताएँगे इसे कैसे उसे करे,

अगर आप ब्लॉगर है तो इसे आप खुद उसे कर सकते है दुषरे को शेयर्ड होस्टिंग जैसे बहुत सरे लोगो को अलग अलग पार्ट में बेच,
सकते है
आपको ज्यादा नॉलेज होनी चाहिए कैसे छोटे छोटा प्रॉब्लम होस्टिंग में ठीक करते है,

Reseller होस्टिंग में linux /SSD होता है,

F -WINDOWS होस्टिंग:

या होस्टिंग Linux के जैसा है लेकिन इसमें आपको होस्टिंग विंडोज सर्वर पे होता है होस्टिंग के पास,
आप शायद जानते होंगे विंडोज फ्री नहीं होता है जिसके लिए लाइसेंस लेना होता है आपके होस्टिंग प्रोवाइडर आपसे इसके ही चार्जेज लेते है,
क्या या लेना चाहिए ?
मई कहूंगा अगर आप अवि  शुरुआत में है तो न लेना बेहतर होगा,
या महंगा वि होता है,
इसमें आपको नॉलेज वि होनी चाहिए,

G -FFMPEG होस्टिंग:

दोस्तों या होस्टिंग ऑडियो और वीडियो के लिए होते है,
कोई कोई इसे avs  होस्टिंग वि कहते है
इसके बिना कभी कभी ऐसे म्यूजिक और वीडियोसाइटपे एरर आजाते है,

क्या ये लेना चाहिए ?
अगर आप म्यूजिक और वीडियो वेबसाइट चलते है तो आपको या होस्टिंग ही लेना होगा बाकि कोई होस्टिंग नहीं,
ये बहुत मेहेंगा होता है,
इसको इस्तेमाल आसान है सिंपल c -पैनल के जैसे,

ffmpeg  ये आपको preinstalled  मिलता है आपके होस्टिंगपैकेजके साथ,

होस्टिंग खरीदने से पहला क्या क्या main चीज़े देखनी चाहिए 

  • Free Domain Name :

  • Free Let’s Encrypt SSL :

  • Web Space :

  • Monthly Bandwidth :

  • Websites you can host :

  • CPU :

  • RAM:

  • INODES :

  • Sub Domains :

  • Parked Domains :

  • FTP Accounts :

  • MySQL Databases :

  • Email Accounts :

  • Mailing Lists :

  • Domain Registrar Reseller Account :

  • softaculous :

  • CloudFlare :

  • SiteApps :

  • Setup Fee :

  • Online WebSite Builder :

  • Data Transfer From other Hosting :

  • Cpanel Control Panel :

  • Mail Forwarders :

  • Auto Responders :

  • Spam Filters :

  • File Manager :

  • FTP Access :

  • Log Files & Site Stats :

  • Backup / Restore :

  • Custom Error Pages :

  • CGI / Perl :

  • Cron Job :

  • MIME Type :

  • Apache Handler :

  • PHP / Perl :

  • Server Side Includes (SSI) :

  • GD Library :

  • Zend Optimizer :

  • CGI Scripting :

  • MySQL :

  • PhpMyAdmin :

  • Image Magick :

  • Shell (SSH) Access :

  • Website Application/Code Support :

  • हम अगले पोस्ट में ऊपर के बारेमें डिटेल्स में जानेंगे आप फ्यूचर में iha क्लिक करके पढ़ सकते है

  • (hosting kya hai, what is hosting, hosting kaunsi achya hai , fmpeg hosting kya hai, what is fmpge hosting, Linux host, windows hosting )

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *