Why I Was Failed To Run My Old Blog In Hindi

Why I Was Failed To Run My Old Blog In Hindi

Why I Was Failed To Run My Old Blog In Hindi

 

नमस्कार दोस्तों, आज मै मेरा खुदका ब्लॉग्गिंग के एक्सपीरियंस आपसे शेयर करने वाला हूँ,

 

शायद आपको पता नहीं होगा मैंने लगभग अवि तक ५ से ६ तक ब्लोग्स बनवाया है,

 

जिसमे से सवी ब्लॉग मैं फ़िलहाल यूज़ नहीं कर रहा हूँ,

 

मुझे उन ब्लोग्स में सक्सेस क्यों नहीं मिल पाया था, अगर पूरा जानकारी आपको दूंगा,

 

तो पोस्ट बहुत लम्बी होने वाली है,

 

में कुछ मैं वजह आपको बताने वाला हूँ जो गलती आप नहीं करेंगे तो आप सक्सेस हो सकते है,

 

सही TOPIC को target ना  करना :

 

इंडिया में नहीं पूरी पृथ्बी में हर दिन लगभग ऐसे लाखो ब्लॉगर ब्लॉग्गिंग छोड़ देते है,

 

जिसका मुख्या कारन होते है, सही टॉपिक का चयन न करना,

 

दोस्तों, अगर आप किसी TOPIC में जानकर है, उसीके रिलेटेड पोस्ट लिखे,

 

ऐसे वि नहीं आप दुश्री TOPIC पे नहीं लिख सकते,

 

लेकिन अगर आप अपने सही TOPIC को फोकस करके आगे बारेंगे तो काम्यापि आपको जरूर मिलेगा,

 

मैंने ऊपर के इस चीज़ को मेरा पहले कोई वि ब्लॉग पे ध्यान नहीं दिया था, जिसके कारन में फ़ैल हो गया था, 

 

(अगर आपको आईडिया नहीं है किसके बारेमें लिखे, तो इस लिंक से आपको जानकारी मिलेगा टॉप २० टॉपिक जिससे आप ब्लॉग्गिंग शुरू कर सकते है,

 

जो की सबसे ज्यादा परे जाने वाला टॉपिक्स है),

 

SEO का थोड़ी वि जानकारी ना रखना :

 

SEO (Search Engine Optimization) जो की हर ब्लॉग और वेबसाइट के लिए मुख्या भूमिका निवाती है,

 

इसका मैंने कोई वि जानकारी नहीं रखा था, और सिर्फ पैसे कमाने के लिए ब्लॉग खोल दिया था,

 

लेकिन जब उसमे मेरा ० विजिटर आने लगा १ साल के बाद वि तब लगा के मैंने कुछ तो गलत कर रहा हूँ जरूर,

 

तभी मैंने खोज की कैसे वेबसाइट पे ट्रैफिक आते है, बात २०१२ की है, जब मैंने पहले 

 

बार ब्लॉग्गिंग पे कदम कदम रखा, तब मई 9TH क्लास में परै किया करता था,

 

उस वक़्त मेरे पास कोई कंप्यूटर या फिर लैपटॉप नहीं था,

 

जिसके कारन मुझे साइबर कैफ़े से ब्लॉग्गिंग करना होता था, 

 

फिर मैंने SEO की थोड़ी बहुत जानकारी ली, और २०१४ से ब्लॉग्गिंग करना बांध करवा दिया था,

 

और नए ब्लॉग बनाने का कोशिश किया, जो की SEO फ्रेंडली हो,

 

अगर कोई बाँदा बोले के मई SEO एक्सपर्ट हूँ, सही है के उनको जानकारी है,

 

लेकिन सच तो ये है, कोई वि सख्स अपने ज़िन्दगी भर में वि SEO पूरी तरह नहीं सिख सकता है,

 

फिर वि ब्लॉग शुरू करने से पहले आपको इससे सीखना आबस्यक है,

 

Why I Was Failed To Run My Old Blog In Hindi

 

FREE चीज़ो को अपनाना :

 

एक कहाबत है सस्ते का मटेरियल हमेशा रस्ते में, जिसे मैंने भूल गया और सिर्फ फ्री को ही अपनाने लगा,

 

मई आपको नहीं कहूंगा के फ्री के चीज़ो को ब्लॉग्गिंग के लिए मत लें,

 

लेकिन जो चीज़े एहम भूमिका निवाते है जैसे ब्लॉग्गिंग प्लेटफार्म और डोमेन और होस्टिंग या तीन चीज़े प्रधान होते है,

 

इससे आप फ्री मत लें, मैंने इससे ध्यान नहीं रखा और फ्री होस्ट/डोमेन/प्लेटफार्म चुन लिया, जो की मुझे फ़ैल साबित कराया था,

 

Comments को सही तरह से समय समय पे जवाब ना  देना :

 

आप अगर आपके ब्लॉग पे जो विजिटर एते है,

 

उनके सवाल के जवाब न देंगे तो उन सख्स को लगेगा के इन ब्लॉग के ओनर सिर्फ कमाने के लिए ब्लॉग खोले है,

 

हमें मदत नहीं करना चाहते,

 

तो वह सख्स कभी वापस आपके ब्लॉग पे नहीं आएगा, इससे मैंने नज़र अंदाज़ किया था,

 

VISITOR ट्रैकिंग ना करना :

 

विजिटर के पसंद न पसंद ये एहम भूमिका निवाती  है एक ब्लॉग के लिए,

 

लेकिन इस चीज़ को मई पूरी तरह से साइड में कर दिया था, जो मुझे एक फ़ैल ब्लॉगर के लिस्ट में शामिल किया था,

 

विजिटर ट्रैक के लिए गूगल एनालिटिक्स का आप इस्तेमाल कर सकते है,

 

जिससे आपको ये पता चलेगा के आपके विजिटर क्या परना पसंद कर रहे है,

 

और आप उसीके ऊपर वि शुरू कर सकते है,

 

Why I Was Failed To Run My Old Blog In Hindi

 

सही LANGUAGES का उपयोग ना करना :

 

मई ब्लॉग्गिंग ENGLSIH में शुरू किया था, जो की मेरे सबसे बड़ा गलती था,

 

क्यों की मई ENGLISH में उतनी अच्यी नहीं हूँ, जिसके कारन मुझे असफल होना पड़ा था,

 

आप अपने लैंग्वेज से ही ब्लॉग्गिंग शुरू करे, जिससे आपको फायदा मिलेगा,

 

वह कोई वि लैंग्वेज क्यों न हो, कोई टिक्यात नहीं,

 

LONG टर्म्स के लिए ना सोचना :

 

हम ब्लॉग्गिंग नहीं इससे बिज़नेस समझ बैठते है शुरू में, जो मुझे फ़ैल केटेगरी में रखा था,

 

ये सच है ब्लॉग के कामय जाता है, लेकिन आपको बहुत ज्यादा म्हणत करनी होगी,

 

इससे आप शुरू से पहले ये सोचना होगा, 

 

मै इससे लम्बे वक़्त के लिए चलाऊंगा भले ही मुझे ० रुपये मिले, तभी आप सक्सेस हो पाएंगे,

 

इससे मैंने सोचा नहीं था, जो मेरा फेलियर के कारन बना था, 

 

वेबसाइट के DESIGN :

 

ये एक विजिटर को आकर्षित के लिए बहुत महत्यपूर्ण है, जिससे आपको रेस्पॉन्सिव डिज़ाइन में बना चाहिए,

 

इससे आपको बहुत फायदा मिलेगा, जिसे मैंने ध्यान नहीं रखा था,

 

तो दोस्तों ये मेरा ब्लॉग्गिंग का फेलियर का कारन था, क्या अपने वि एहि गलती करके आज सक्सेस है, तो कमेंट में जरूर बताये हमें,

 

अगर आपको  गेम खेलना पसंद है फ्री में बिना ADS के यह से खेल सकते है, ऑनलाइन फ्री है, 

 

 

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *